डा.अरुण कुकसाल की पुस्तक ‘चलें पहाड़’ को राहुल सांकृत्यायन पर्यटन पुरस्कार 20-21के अन्तर्गत मिलेगा प्रथम पुरस्कार-www.janswar.com

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

डा.अरुण कुकसाल की पुस्तक ‘चलें पहाड़’ को राहुल सांकृत्यायन पर्यटन पुरस्कार 20-21के अन्तर्गत मिलेगा प्रथम पुरस्कार

यायावर लेखक डॉ.अरुण कुकसाल को उनकी चर्चित पुस्तक ‘चले साथ पहाड़’ को ‘पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा “राहुल सांकृत्यायन पर्यटन पुरस्कार, 2020-21 के अंतर्गत प्रथम पुरस्कार के लिए चुना है।

पौड़ी (गढ़वाल) के चामी गांव में 8 अक्टूबर, 1959 को जन्मे डाॅ. कुकसाल हिमालयी समाज के सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक और साहित्यिक मुद्दों पर पत्र-पत्रिकाओं तथा सोशियल मीडिया में नियमित लेखन से जुड़े हैं। उद्यमिता विकास, यात्रा साहित्य तथा सामाजिक-सांस्कृतिक विषयक 7 पुस्तकें प्रकाशित हैं।

पूर्व में डाॅ. कुकसाल को उद्यमिता शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए ‘राष्ट्रीय उद्यमी उत्प्रेरणा प्रशिक्षक सम्मान’ प्राप्त हुआ हैं।

गिरी विकास अध्ययन संस्थान उप्र., उद्यमिता विकास संस्थान उप्र., स्वशक्ति परियोजना, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद्, उत्तराखंड, राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद्, उत्तराखंड में महत्वपूर्ण पदों पर प्रशंसनीय योगदान रहा है।

वर्तमान में डाॅ. पैतृक गांव चामी में बच्चों, युवाओं और महिलाओं के लिए पुस्तकालय संचालन, कम्प्यूटर प्रशिक्षण और कैरियर मार्गदर्शन के कार्य में सक्रिय हैं। साथ ही, लोकपाल (मनरेगा), पौड़ी (गढ़वाल) के पद पर अपनी विशेषज्ञ सेवायें प्रदान कर रहें हैं।

**********

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *