गाजियाबाद से पिथौरागढ़ के लिए हवाई सेवा शुरू##केन्द्रीय मंत्री ने की राज्य के उत्पादों की सराहना।##सूचना आयोग मनाएगा सूचना का अधिकार अधिनियम की वर्षगॉठ।##दिव्यदृष्टि दिवस पर अम्स मे व्याख्यानमा का आयोजन।##खेल महाकुम्भ माह नवम्बर के प्रथम सप्ताह से होंगे प्रारम्भ।##जिलाधिकारी नैनीताल ने किया निरीक्षण।पढिए Janswar.com में।

गाजियाबाद से पिथौरागढ़ के लिए हवाई सेवा शुरू
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने हिंडन एयरपोर्ट पर पिथौरागढ़ के लिए हवाई सेवा का शुभारम्भ किया।
उत्तराखण्ड के विभिन्न स्थानों को हवाई कनेक्टिविटी से जोड़ने के प्रयासों में एक और सफलता मिली है। गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरपोर्ट से पिथौरागढ़ के लिए नियमित हवाई सेवा प्रारम्भ कर दी गई है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने हिन्डन एयरपोर्ट पर आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम में हिन्डन- पिथौरागढ़ -हिन्डन हवाई सेवा का औपचारिक शुभारम्भ किया।
हेरिटेज एविएशन कम्पनी का 9-सीटर विमान, सप्ताह में 6 दिन (गुरूवार को छोड़कर) उड़ान भरेगा। प्रतिदिन पिथौरागढ़ से सुबह 11.30 बजे प्रस्थान कर विमान 12.30 बजे हिंडन एयरपोर्ट पहुंचेगा। जबकि हिंडन एयरपोर्ट से अपराह्न 1 बजे प्रस्थान कर अपराह्न 2 बजे विमान पिथौरागढ़ पहुंचेगा।
गाजियाबाद से पिथौरागढ़ के लिए हवाई सेवा शुरू होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि इससे प्रदेश के पिथौरागढ़ के अलावा अल्मोड़ा, चम्पावत, बागेश्वर से देश की राजधानी तक पहुंचने में समय की काफी बचत होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली से पिथौरागढ़ तक सड़क मार्ग से जाने में काफी समय लगता है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पिथौरागढ़ में एक ट्यूलिप गार्डन बनाया जा रहा है। ट्यूलिप गार्डन बनाने का मुख्य उद्देश्य है कि राष्ट्रीय व अन्तरराष्ट्रीय पर्यटक यहां आयें और यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य का आनन्द भी ले सकें। पर्वतारोहण के लिए पिथौरागढ़ आने वाले पर्यटकों को भी इस हवाई सेवा के शुभारम्भ होने से आसानी होगी।
इस अवसर पर केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री वी.के.सिंह, सांसद नैनीताल श्री अजय भट्ट, सांसद अल्मोड़ा श्री अजय टम्टा, राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश श्री अतुल गर्ग आदि उपस्थित थे।
###################### केन्द्रीय मंत्री ने की राज्य के उत्पादों की सराहना।
नई दिल्ली स्थित प्रगति मैदान में आयोजित तीन दिवसीय भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला(आईआईसीटीएफ) में उत्तराखण्ड के सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 धन सिंह रावत ने प्रतिभाग किया। केन्द्रीय ग्रामीण विकास, कृषि और किसान कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने दीप प्रज्वलित कर तीन दिवसीय भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला(आईआईसीटीएफ) का उद्घाटन किया।
उतराखण्ड के राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने उद्घाटन समारोह के अध्यक्षीय भाषण में कहा कि सहकारी व्यापार मेला पहली बार नई दिल्ली में बड़े स्तर पर हो रहा है, इसमें 46 देशों के सहकारिता के सचिव, प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। आज उद्धघाटन समारोह में लगभग सभी राज्यों के सहकारिता मंत्री, सचिव भाग ले रहे हैं। प्रगति मैदान मे कॉपरेटिव से संबंधित हर राज्य का स्टाल लगा है। उत्तराखंड सरकार का सहकारी विभाग के 12 स्टॉल लगें हैं।
उन्होनें बताया कि उत्तराखंड भेड़ बकरी कॉपरेटिव फेडरेशन, उत्तराखंड मत्स्य कॉपरेटिव फेडरेशन, उत्तराखंड डेरी कॉपरेटिव फेडरेशन, उत्तराखंड राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना, उत्तराखंड राज्य सहकारी संघ, उत्तराखंड राज्य सहकारी बैंक, उत्तराखंड राज्य रेशम सहकारी फेडरेशन, उत्तराखंड लाइव स्टॉक डेवलपमेंट बोर्ड, स्वयत सहकारिता सुविधा संस्था द्वारा चार स्टाल लगाये गये हैं। जिसमें आर्गेनिक व पर्वतीय उत्पादो की बिक्री की जा रही है।
उत्तराखण्ड सहकारिता राज्य मंत्री श्री धन सिंह रावत के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री पुरषोत्तम रुपाला, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी, केन्द्रीय कृषि सचिव श्री संजय अग्रवाल उत्तराखंड के सभी स्टालों का भ्रमण किया। केन्द्रीय मंत्री द्वारा उत्तराखंड के किसानों द्वारा तैयार किया गया उत्पदानों/प्रोडक्टस् की प्रशंसा की।
######################
सूचना आयोग मनाएगा सूचना का अधिकार अधिनियम की वर्षगॉठ।

उत्तराखण्ड सूचना आयोग द्वारा प्रतिवर्ष 12 अक्टूबर को सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 की वर्षगांठ का आयोजन किया जाता है। आयोग द्वारा इस वर्ष 14वीं वर्षगांठ का आयोजन मा0 मुख्य सूचना आयुक्त महोदय की अध्यक्षता में दिनांक 12अक्टूबर(आज) को प्रातः 10:30 से 01:30 बजे के मध्य मंथन सभागार, प्रमुख वन संरक्षक कार्यालय, राजपुर रोड़, देहरादून में किया जा रहा है जिसमें देहरादून स्थित विधि विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों में अध्ययनरत विधि के स्नातक/स्नातकोत्तर छात्रों द्वारा प्रतिभाग किया जाना प्रस्तावित है। संबंधित प्रतिभागियों द्वारा सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 से संबंधित विषयों पर व्याख्यान दिया जाएगा।
#######################
दिव्यदृष्टि दिवस पर अम्स मे व्याख्यानमा का आयोजन।

विश्व दृष्टि दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में जनजागरुकता के लिए सार्वजनिक व्याख्यानमाला का आयोजन ​किया गया। संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मधुमेह से आंखों को होने वाले नुकसान, बचाव एवं उपचार से संबंधित जानकारी दी गई। पब्लिक लेक्चर में नगर क्षेत्र की विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ ही मरीजों व उनके तीमारदारों ने भी हिस्सा लिया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि संस्थान के नेत्र रोग विभाग में रेटिना चिकित्सा में विशेषज्ञ सहायक आचार्य डा. रामानुज सामंत व डा. देवेश कुमावत मरीजों को सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि विभाग में सोमवार को छोड़कर सप्ताह के पांच दिन ओपीडी में रोगियों की रेटिना से संबंधित समस्याओं का उपचार किया जा रहा है। मधुमेह नेत्र रोग के उपचार के लिए आवश्यक चिकित्सकीय सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डा. संजीव कुमार मित्तल ने बताया कि देश में मधुमेह की बीमारी से करीब 7 प्रतिशत लोग ग्रसित हैं। इसकी मुख्य वजह रहन-सहन,खानपान में बदलाव है,जिसके कारण भविष्य में मधुमेह से और अधिक लोग ग्रसित हो सकते हैं। यह बीमारी रक्त सर्करा की मात्रा अधिक होने के कारण होती है। उन्होंने बताया कि मधुमेह से दृष्टिपटल रेटीना पर दुष्प्रभाव पड़ने लगता है। रक्त वाहिकाओं से रक्त का रिसाव होने लगता है व सूजन आ जाती है। डा. मित्तल ने बताया कि मधुमेह से संबंधित दृष्टिपटल रोग में दृष्टि विकृति होना, आंखों के आगे काले धब्बे दिखना,दृष्टि का अर्द्ध व पूर्णरूप से कम हो जाना आदि लक्षण पाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि मधुमेह नेत्र जांच से दृष्टिपटल रोग का जल्दी पता लगाकर दृष्टि हानि से बचा जा सकता है। लिहाजा प्रत्येक मधुमेह ग्रसित व्यक्ति को समय समय पर विशेषज्ञ चिकित्सक से नेत्र जांच करानी चाहिए। उन्होंने बताया कि मधुमेह दृष्टिपटल रोग का इलाज लेजर विधि, आंख में इंजेक्शन और सर्जरी द्वारा किया जा सकता है। इस अवसर पर डा. देवेश व डा. श्रींखल ने भी व्याख्यान दिया।आयोजन में नेत्र रोग विभाग के डा. अजय अग्रवाल, डा. अनुपम, डा. रामानुज, डा. नीति गुप्ता आदि ने सहयोग किया। इस अवसर पर इनर व्हील क्लब अध्यक्ष मीनू डंग,आरती अग्रवाल,सरिता शर्मा,गीता धीर, अजय धीर, अंजू मित्तल, श्रीपरशुराम महासभा अध्यक्ष राकेश शर्मा,दिनेश मुद्गल,अभिषेक शर्मा, वैश्य समाज के ऋ​षि अग्रवाल,सविता अग्रवाल,पुरुषोत्तम दयाल अग्रवाल आदि मौजूद थे।
#######################
खेल महाकुम्भ माह नवम्बर के प्रथम सप्ताह से होंगे प्रारम्भ।
2019 हेतु राज्य स्तरीय आयोजन समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए सचिव खेल व युवा कल्याण श्री बृजेश कुमार सन्त द्वारा अवगत कराया गया कि खेल महाकुंभ, 2019 प्रदेश भर में नवम्बर माह के प्रथम सप्ताह से प्रारम्भ हो जाएंगे जिसका आयोजन क्रमशः न्याय पंचायत स्तर, ब्लाक स्तर, जिला स्तर तथा अन्त में राज्य स्तर पर किया जायेगा। महाकुम्भ में इस वर्ष दो लाख से अधिक खिलाड़ियों द्वारा भाग लिया जायेगा। खेलों हेतु निर्धारित आयु वर्ग अंडर-12, अंडर-14, अंडर-17, अंडर-21 (सभी वर्गों में बालक-बालिका पृथक-पृथक), 21-25 आयु वर्ग हेतु महिला वर्ग तथा दिव्यांगजन रखे गये हैं। दिव्यांगजन के खेल आयोजन केवल राज्य स्तर पर होंगे। इसी प्रकार महिला वर्ग के खेल जिला एवं राज्य स्तर पर आयोजित होंगे।
खेल महाकुम्भ में कुल 16 खेल प्रतियोगिताएं निर्धारित हैं जिनमें कबड्डी, एथलेटिक्स, खो-खो, वालीबाल, बैडमिंटन, फुटबाल, टेबल-टेनिस, ताईक्वांडो, बॉक्सिंग, जूडो, हैण्डबाल, बास्केटबाल, हॉकी, तैराकी, तीरंदाजी व तलवारबाजी शामिल हैं। खेल महाकुम्भ में तैराकी, तीरंदाजी व तलवारबाजी को प्रथम बार रखा गया है जिनका आयोजन राज्य स्तरीय खेल महाकुम्भ में अंडर-14 व अंडर-17 बालक-बालिका में किया जायेगा। दिव्यांगजन हेतु सीधे राज्य स्तर पर एथलेटिक्स, गोला फेंक, चक्का फेंक, भाला फेंक, लम्बी कूद व बैडमिंटन खेलों का आयोजन होगा।
#######################
जिलाधिकारी नैनीताल ने किया निरीक्षण।
कोटाबाग/हल्द्वानी- जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने शुक्रवार की प्रातः 9 बजे बगड़ से 10 किलोमीटर पैदल चलकर कोटाबाग के दूरस्थ क्षेत्रों के विकास कार्यो का निरीक्षण करने के उपरान्त विकास खण्ड कोटाबाग के बूथों का निरीक्षण करने पहुचे।
जिलाधिकारी ने शुक्रवार को निर्माणाधीन पुलिया व काॅजवे निर्माण का स्थलीय निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान निर्माणाधीन पुलिया व काॅजवे निर्माण कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के साथ ही गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश लोनिवि को दिये। उन्होने पीएमजीएसवाई को तल्ला बगड से पिनौनियां तक 4 किमी सडक का सर्वे शीघ्र कराने के निर्देश दिये।त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन के द्वितीय चरण में विकासखण्ड कोटाबाग,धारी एवं रामगढ में स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शांतिपूर्वक मतदान संपन्न कराने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री सचिन बंसल ने कोटाबाग विकास खण्ड के कई मतदेय स्थलों का के निरीक्षणें के बाद
रा0इ0का0 कोटाबाग में मतदेय स्थल 63,64,65 एव 66 का निरीक्षण किया। इसी प्रकार कन्या जू0हा0स्कूल पतलिया मतदेय स्थल 14,15 एवं 16 का निरीक्षण के साथ ही प्रा0 पा0 गिन्तीगांव मतदेय स्थल 26, 27 व 28 के निरीक्षण के साथ ही रा0इ0का0 बजूनियांहल्दू के मतदेय स्थल 17,18 व 19 का स्थलीय निरीक्षण किया गया।
इसके उपरान्त श्री बसंल ने राजकीय बालिका इन्टर कालेज कोटाबाग मे बने स्ट्रॉंग रूम का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान श्री बंसल ने अधिकारियोें को निर्देश दिये कि स्ट्रांग रूम मे सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए साथ ही सीसीटीवी कैमरे की निगरानी प्रतिदिन की जाए।
निरीक्षण दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा,प्रेक्षक आनन्द स्वरूप, उपजिलाधिकारी विवेक राय, एएसपी अमित श्रीवास्तव, सैक्टर मजिस्टेट/जोनल मजिस्टेट आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.