कोविड-19 के मानक को ध्यान में रखते हुए धूमधाम से मनाया जायेगा स्वतंत्रता दिवस’’#उत्तराखंड में जल के बिना लाखों घरों में लगा दिए नल‘‘ एक दैनिक में छपी इस खबर कोअ.अ. निर्माण शाखा उत्तराखंड पेयजल संसाधन विकास एवं निर्माण निगम कोटद्वार ने आधारहीन बताया। Janswar.com

कोविड-19 के मानक को ध्यान में रखते हुए धूमधाम से मनाया जायेगा स्वतंत्रता दिवस’’

सचिवालय सभाकक्ष में मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. सन्धु ने विभागीय अधिकारियों के साथ हुई बैठक में उपरोक्त बात कही।
उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को स्वतंत्रता दिवस को भव्य तरीके से मनाने के लिए अधिकारियों को कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश देते हुए कहा कि विभिन्न विभागों को जो तैयारियां की जानी हैं उसको समय से संपादित करें। कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले लोग अनिवार्य रूप से मास्क पहनकर प्रतिभाग करेंगे और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करेंगे। आमंत्रित किये गये लोगों को ई-पास जारी करें तथा विगत वर्षों में विभिन्न विभागों के कार्मिकों द्वारा किये गये बेहतर कार्यों तथा कोरोना काल में बेहतरीन कोरोना वारियर्स को सम्मानित करवाने के लिये सभी विभाग ऐसे लोगों की सूची खेल विभाग को सौंप दें।
उन्होंने निर्देश दिये कि सभी जिलाधिकारी सुनिश्चित करें कि स्वतंत्रता सेनानियों को उनके आवास पर जाकर सम्मानित किया जाये तथा मुख्य कार्यक्रम में जिन लोगों को सम्मानित किया जाना है उनका अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर टेस्ट करके ही उन्हें सम्मिलित किया जाये। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कार्यक्रम से जोड़ने और एक भारत श्रेष्ठ भारत तथा आत्म निर्भर भारत का संदेश प्रसारित करने को कहा।
राज्य स्तरीय मुख्य कार्यक्रम परेड ग्राउंड में आयोजित होना प्रस्तावित हैं जहां पर मा. मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा प्रातः 10ः00 बजे ध्वजारोहण करके कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे। तत्पश्चात परेड की सलामी और सम्मान समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित करेंगे। इस बार भी परेड में पैरामिलिट्री फोर्स, पी.ए.सी, नागरिक पुलिस, होमगार्ड आदि के दस्ते भाग लेंगे।
विभिन्न जनपदों में प्रभारी मंत्री ध्वजारोहण करके कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। सभी सरकारी और गैर सरकारी भवनों पर सम्बन्धित विभागाध्यक्ष/कार्यालयाध्यक्ष द्वारा प्रातः 09ः00 बजे ध्वजारोहण किया जायेगा तथा जनपद देहरादून के कलक्ट्रेट में जिलाध्यक्ष द्वारा प्रातः 09ः30 बजे ध्वजारोहण किया जायेगा।
इस बार के मुख्य कार्यक्रम में कोविड-19 के चलते बच्चों का प्रतिभाग नहीं कराया जायेगा। एन.सी.सी को परेड में सम्मिलित नहीं किया जायेगा, सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किये जायेंगे तथा कवि सम्मेलन भी आयोजित नहीं किया जायेगा। विगत वर्ष की तरह स्वतंत्रता सेनानियों को उनके घर जाकर सम्मानित किया जायेगा। विभिन्न सार्वजनिक भवन में साफ-सफाई और उनको प्रकाशमान किया जायेगा और विभिन्न जनपदों में वृक्षारोपण अभियान भी चलाया जायेगा।
महत्वपूर्ण स्थलों, चौराहों पर देश भक्ति गीतों का प्रसारण किया जायेगा। एक सप्ताह पूर्व से ही शहीद स्थल, पार्क व स्मरणीय व्यक्तियों के स्टैच्यू इत्यादि की साफ-सफाई की जायेगी तथा टी.वी, रेडियो, सोशल मीडिया के माध्यम से देश भक्ति के गीतों का प्रसारण किया जायेगा।
इस दौरान बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव श्री आर.के. सुधांशु, श्री एल.एल. फैनई, पुलिस महानिरीक्षक श्री संजय गुंज्याल, सचिव श्री आर. मीनाक्षी सुंदरम, डॉ. रंजीत सिन्हा, श्री एस.ए. मुरूगेशन, श्री एच.सी. सेमवाल, प्रभारी सचिव डॉ. वी. षणमुगम, श्री विनोद कुमार सुमन, महानिदेशक सूचना श्री रणवीर सिंह चौहान सहित सम्बंधित विभागीय अधिकारी बैठक में उपस्थित थे तथा सभी जिलाधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े हुए थे।


मंगलवार को दिनांक 03 अगस्त, 2021 को दैनिक समाचार पत्र हिंदुस्तान में प्रकाशित ‘‘उत्तराखंड के लाखों घरों लगा दिए नल पर जल नही, राज्य के लोगों ने उठाए सवाल‘‘ खबर का संज्ञान लेते हुए जनपद पौड़ी गढवाल के जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने तत्काल संबंधित अधिकारी को जांच कर आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जिस पर अधिशासी अभियंता निर्माण शाखा उत्तराखंड पेयजल संसाधन विकास एवं निर्माण निगम कोटद्वार गढ़वाल द्वारा प्रकाशित खबर में जनपद से संबंधित समाचार को आधारहीन बताते हुए मुख्य सम्पादक दैनिक हिन्दुस्तान, देहरादून को समाचार का खण्डन करने हेतु पत्र प्रेषित किया गया।
अधिशासी अभियंता निर्माण शाखा उत्तराखंड पेयजल संसाधन विकास एवं निर्माण निगम कोटद्वार सरिता गुप्ता ने देहरादून से प्रकाशित एक  दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर ‘‘पौड़ी जिले के द्वारीखाल ब्लॉक के पाली डब/पाली, क्यार, सुराड़ी, चैलूसैंण, मथगांव, विरमोली, नैल, रैंस, कर्थी सिलोगी, मस्ट, मस्टखाल ऐसे गांव है, जहां पानी नहीं है और कनैक्शन लगा दिये गये है‘‘ के संबंध में उस दैनिक के मुख्य सम्पादक  देहरादून को पत्र प्रेषित करते हुए कहा कि आपके द्वारा प्रकाशित इस खबर में जनपद से किसी भी विभागीय अधिकारी/कर्मचारी के बयान लिये बिना ही एवं धरातल पर जाये बिना तथा ग्रामों की वस्तुस्थिति का संज्ञान लिये बिना ही प्रकाशित की गयी है। उन्होंने बताया कि उक्त ग्रामों में से ग्राम पाली डब/पाली, सुराड़ी, चैलूसैंण, विरमोली, नैल, कर्थी सिलोगी, मस्टखाल ग्राम, भैरवगढ़ी ग्राम समूह पंपिंग पेयजल योजना से लाभान्वित है, जिनमें वर्तमान में पेयजल आपूर्ति सुचारू है। यदा-कदा विद्युत आपूर्ति में व्यवधान होने, नदी में अत्यधिक गाद आ जाने अथवा पम्पों में खराबी आ जाने के कारण पेयजल आपूर्ति बाधित होती है, जिसे समय-समय पर ठीक कराकर पेयजल आपूर्ति सुचारू कर दी जाती है। बताया कि इसके अतिरिक्त ग्राम क्यार, रैंस, मथगांव, कर्थी एवं मस्ट ग्रामों की पेयजल योजनायें ग्राम सभा के रख-रखाव में है, जिनकी योजनायें पुरानी होने से कभी-कभी क्षतिग्रस्त होने पर पेयजल आपूर्ति बाधित होती है। इन पेयजल योजनाओं में पेयजल आपूर्ति मानकों के अनुरूप बढ़ाये जाने हेतु रेट्रोफिटिंग की आवश्यकता है, जिसके प्राक्कलन विरचन का कार्य प्रगति पर है।
उन्होंने कहा कि इन पेयजल योजनाओं में पूर्व में जल स्तम्भों के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की जाती थी तथा वर्तमान में जल जीवन मिशन के अनुसार कनैक्शन दिये जाने/रेट्रोफिटिंग का कार्य गतिमान है। उन्होंने दिनांक 03 अगस्त, 2021 को एक दैनिक समाचार पत्र  में प्रकाशित ‘‘उत्तराखंड में जल के बिना लाखों घरों में लगा दिए नल‘‘ में जनपद के द्वारीखाल ब्लॉक के अन्तर्गत गांवों की खबर को आधारहीन बताते हुए खबर का खण्डन करने हेतु उस दैनिक के मुख्य सम्पादक देहरादून को पत्र प्रेषित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.