कॅरोना वायरस की संदिग्ध पीड़ित युवती की हालत में लगातार सुधार##बेटियों को आत्मरक्षा मे दक्ष करेंगे डीएम नैनीताल।पढिए Janswar.com में।

समाचार प्रस्तुति-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी।

एम्स ऋषिकेश से जारी विज्ञप्ति के अनुसार चीन में मेडिकल की छात्रा,जो दून अस्पताल से रेफर ऐम्स में भर्ती युवती की हालत में सुधार बताया गया है। ऐम्स से जारी विज्ञप्ति के अनुसार एम्स में भर्ती कोरोना वायरस आशंकित दून की युवती की हालत में लगातार सुधार, डायरिया, दर्द और बुखार पर नियंत्रण, हल्की खांसी की शिकायत, कोराेना वायरस की जांच रिपोर्ट की रविवार तक आने की संभावना है। मरीज को संक्रमण वाली तिथि से 14 दिन तक एहतियातन अस्पताल में भर्ती रखा जाएगा। एम्स संस्थान में फिलहाल कोरोना वायरस आशंकित कोई अन्य मरीज भर्ती नहीं।

—————————————————–

बेटियों को शैक्षिक, शारीरिक, मानसिक भावनात्मक रूप से सक्षम बनाने का बीडा जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने उठाया है। जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में बाल विकास, शिक्षा एवं स्वास्थ विभाग के संयुक्त तत्वाधान में बेटी बचाओ-बेटी पढाओे के तहत एक भव्य कार्यक्रम में जनपद की मेघावी छात्राओं को नगद धनराशि व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया तथा उपस्थित बालिकाओं का राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम व स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण एवं दवायें भी वितरित की गई।  
जिलाधिकारी श्री बंसल ने बालिकाओ के साथ दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम मे मौजूद विभिन्न विद्यालयों के लगभग 700 बालिकाओं को सम्बोधित करते हुये जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि बालिकाओं को अपने अधिकारों एवं  कर्तव्यों के प्रति सजग रहकर आगे बढना होगा। उन्होने कहा आगे बढने के लिए आत्मविश्वास अति आवश्यक है। शिक्षा के साथ ही अन्य क्रियाकलाप भी अति आवश्यक है, हमारी बच्चियां अच्छी शिक्षा प्राप्त कर अच्छे नम्बरों से पास हो रही है साथ ही अन्य क्रियाकलापों मे भी आगे हैं यह खुशी  की बात है। उन्होने कहा समाज के विभिन्न वर्गों में बेटियों के संबंध में सोच में भी सकारात्मक बदलाव हुआ है, आज सभी परिवार बेटियों को भी बेटों के समान ही जीवन में आगे बढने के समान अवसर प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों के प्रति समाज में व्याप्त गलत अवधारणा व सोच में बदलाव आ रहा है। माता-पिता अपनी बेटियों को अच्छी शिक्षा-दीक्षा एवं उचित मार्गदर्शन दे रहे है, हमें ऐसे माता-पिता से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। उन्होंने बालिकाओ से अपील की कि वे जीवन में जो भी मुकाम हासिल करना चाहती हैं उसके लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता हैं, तथा कडी मेहनत एंव परिश्रम से ही लक्ष्य को हासिल किया जा सकता हैं। उन्होने कहा विद्यार्थी स्कूल लाइबे्ररी के साथ ही विषय व कैरियर से सम्बन्धित इन्टरनैट पर उपलब्ध विषय वस्तु का भी लाभ उठायेे। श्री बंसल ने कहा पढाई, परीक्षा तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बन्धित किसी प्रकार की समस्या अगर बेटियों को आती है वे बेहिचक होकर सम्पर्क कर सकते है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.