ऋषिकेश के सात मोड़ पर दुर्घटना,उपजिलाधिकारी के वाहन से दो वाहन टकराने से एक किशोरी की मृत्यु,उपजिलाधिकारी ऋषिकेश सहित कई घायल ### सेना के जवानों के नाम से ठगी करने वाले ठग अलवर राजस्थान से गिरफ्तार। पढिएJanswar.comमें।

प्रस्तुति-उमाशंकर कुकरेती

आज 14 अगस्त को ऋषिकेश देहरादून मार्ग पर ऋषिकेश से कुछ आगे सात मोड़ के पास उप जिलाधिकारी ऋषिकेश की गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया है, जिसमें कुछ लोग घायल हुए हैं, उक्त सूचना पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश थाने में उपस्थित पुलिस बल को साथ लेकर तत्काल घटनास्थल की ओर रवाना हुए, एवं वायरलेस के माध्यम से एंबुलेंस 108, चीता मोबाइल एवं आसपास की चौकी से भी पुलिस बल को घटनास्थल पर बुलाया गया। क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश भी तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे। मौके पर जाकर देखा तो तीन गाड़ियां आपस में टकराई हुई है। जिनमें दो फोर व्हीलर और एक थ्री व्हीलर था। घायलों को तत्काल मौके पर वाहन में उपस्थित फर्स्ट एड किट की सहायता से प्राथमिक उपचार देकर थाना मोबाइल के माध्यम से सरकारी अस्पताल हेतु रवाना किया गया। एंबुलेंस 108 के माध्यम से गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को एम्स अस्पताल ऋषिकेश के लिए रवाना किया गया, जहाँ उपचार के दौरान एक युवती तनु पुत्री दिनेश, उम्र 17 वर्ष, निवासी रानीपोखरी देहरादून की मृत्यु हो गईं।तथा 1- अनीशा पुत्री दिवेश उम्र 16 वर्ष निवासी रानीपोखरी देहरादून,2- प्रियंका उर्फ वर्षा पुत्री शत्रुघ्न उम्र 19 वर्ष निवासी रायवाला, देहरादून 3- रिचा पत्नी एम.आर खोलियान उम्र 21 वर्ष निवासी डोईवाला देहरादून,

4-शोभा पत्नी दिनेश उम्र 40 वर्ष निवासी रानीपोखरी देहरादून,5- रोशनी पुत्री अशोक कुमार उम्र 30 वर्ष रानीपोखरी, देहरादून,6- पुष्पा पत्नी धीरेंद्र उम्र 40 वर्ष निवासी उपरोक्त, 7- श्याम सिंह पुत्र स्वर्गीय मुकेश राम उम्र 32 वर्ष निवासी न्यू गांव टिहरी गढ़वाल,8- मनजीत पुत्र विजय पाल सिंह उम्र 16 वर्ष निवासी कुर्ता बालावाला देहरादून,9- सन्नी भट्ट पुत्र भरोसे राम, उम्र 31 वर्ष निवासी अजबपुर कलां, देहरादून

मौके पर उपस्थित पुलिस बल ने दोनों तरफ लगे जाम को तत्काल खुलवाकर यातायात को प्रारंभ किया।थाने से क्रेन मंगवा कर दोनों दुर्दोघटना में क्षतिग्रस्त वाहनों को रोड से हटाकर सड़क किनारे लगाया गया।। क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश एवं प्रभारी कोतवाली के द्वारा तत्काल एम्स अस्पताल से संपर्क कर घायलों को इमरजेंसी सुविधा प्रदान करवाई गई एवं एम्स अस्पताल जाकर भी घायलों के परिवार जनो से सपंर्क कर सूचना दी गई।

सेना के जवानो के नाम पर ठगी करने वाले खान गैंग का पर्दाफाश , 04 अभियुक्त अलवर राजस्थान से गिरफ्तार।

जनपद देहरादून में ठगी व धोखाधडी के लगातार प्राप्त हो रही शिकायतों के संदर्भ में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के पर्यवेक्षण में उक्त घटनाओं घटनाओं के अनावरण हेतु टीमें गठित करने के निर्देश दिये गये थे। साथ ही साथ जनपद के थानों में इसी घटना के सम्बन्ध में पूर्व में पंजीकृत अभियोंगों से भी साक्ष्य संकलन कर अभियुक्तों की गिरफ्तार व घटना के अनावरण हेतु भी निर्देशित किया गया था। जिसमें गठित टीम द्वारा थाना रानीपोखरी एवं जनपद के अन्य थानों पर पंजीकृत घोखाधडी के अभियोग के सम्बन्ध में 04 अभियुक्तों को राजस्थान के अलवर जिले से गिरफ्तार किया गया है।
घटना का विवरण- दिनांक 01.08.19 को थाना रानीपोखरी पर प्रार्थी गिरिश चन्द्र भटट पुत्र श्री आरसी भटट निवासी भटनगरी, थाना रानीपोखरी, जनपद देहरादून की तहरीर पर थाना रानी पोखरी पर तहरीर दी कि दिनांक 22/07/2019 को प्रार्थी द्वारा फेसबुक पर Market Place नामक एक विज्ञापन देखा जिसमे एक होण्डा एकटिवा स्कूटी बेचने की बात कही गयी थी । प्रार्थी अपने लिए एक पुरानी स्कूटी तलाश रहा था। अतः प्रार्थी द्वारा विज्ञापन पर दिये गए फोन नम्बर 919721173326 पर फोन किया तो फोन उठाने वाले ने अपना नाम तेजस्वी चौहान बताया और स्वंय को भारतीय सेना मे सिपाही बताया । उपरोक्त व्यक्ति ने प्रार्थी को अपने आधार कार्ड व कैन्टीन स्मार्ट कार्ड की फोटो खींचकर वाटसअप्प पर भेजी । सौदा 27,500/- मे तय हुआ और उपरोक्त व्यक्ति ने प्रार्थीको बताया कि उस व्यक्ति का ट्रांसफर हो गया है। जिस कारण वह व्यक्ति अपना सभी सामान बेच रहा है । उस व्यक्ति ने प्रार्थी को 27,500/- रूपये राजू बाल्मिकी के खाता संख्या 918875610402 मे PYTM द्वारा भेजने को कहा उस खाते का IFSC कोड PYTM 0123456 था । प्रार्थी द्वारा 27 जुलाई 2019 को उक्त राजू बाल्मिक के खाते मे 10,000/- बतौर एडवांस डाला गया । दिनांकः 28 जुलाई 2019 को उपरोक्त व्यक्ति ने गौरव आगेय नामक व्यक्ति के खाता संख्या 917011626271 जिसका IFSC कोड PYTM- 0123456 था प्रार्थी को दिया गया. व प्रार्थी से कहा गया कि बाकी रकम 17500/- इस खाते मे डाल दे । प्रार्थी को बताया गया कि 27500/- रूपये मिलते ही उपरोक्त तेजस्वी चौहान ट्रास्पोर्ट द्वारा हौन्डा एक्टिवा देहरादून प्रार्थीके पते पर भेज देगा । जिससे प्रार्थी को स्कूटर उसके घर पर पहुंचा दिया जायेगा । दिनांक 28 जुलाई सांय लगभग 8.00 बजे प्रार्थी के मोबाईल पर इस नं0 8690512867 से फोन आता और फोन करने वाले व्यक्ति ने स्वंय को सी0आई0एस0एफ0 का जवान बताया और बोला कि नोयडा से स्कूटी की डिलीवरी के लिए देहरादून के क्षेत्र डालनवाला मे पहुंच गया है । उसने आगे बताया कि सिक्योरिटी के तौर पर प्रार्थी को 15,700/- रूपये जमा कराना होगा । जिसमे से प्रार्थी को 700/- रूपये काटकर बकाया 15,000/-रूपये लौटा दिया जायेगा । प्रार्थी उस व्यक्ति की बातों मे आ गया और 15,700/- गौरव आगेय के खाते मे भेज दिए । पैसा भेजने के बाद प्रार्थी के पास पुनः फोन आया और कहा गया कि प्रार्थीको 15,700/- रूपये दो हिस्सों मे भेजना था । 15,000/- एक बार और 700/- रूपये एक बार प्रार्थी को ये भी आश्वासन दिया गया था कि प्रार्थी को पूर्व मे भेजे हुए 15,700/- रूपये रिफण्ड दिया जायेगा ।प्रार्थी पुनः उनके झांसे मे आ गया और पुनः 15,700/- रूपये दो किस्तों मे उपरोक्त गौरव आगेय के खाते मे भेज बैठा । प्रार्थी के पास पुनः फोन आया कि प्रार्थी को 11,000/- रूपये रजिस्ट्रेशन सार्टीफिकेट के सिक्योरिटी के लिए देने होगे । जिसमें से प्रार्थी को 11,000/- रूपये वापिस मिल जायेगा। प्रार्थी बुरी तरह से फस चुका था। अतः प्रार्थी ने 11,100/- दो किस्तो (11,000/- एक बार व 100 रूपये दूसरी बार उक्त गौरव आगेय के खाते मे भेजे गये । पैसे मिलते ही उक्त व्यकित ने प्रार्थीको फोन किया कि 11,000/- रूपये दो किस्तो मे नही बल्कि एक ही किस्त मे भेजना था । प्रार्थी को पुनः आश्वस्त किया गया कि प्रार्थी को पूरा पैसा एक घण्टे के भीतर रिफण्ड कर दिया जायेगा । प्रार्थी बुरी तरह से फस चुका था । अतः प्रार्थी ने 11,100/- रूपये एक किश्त मे उक्त व्यक्ति गौरव आगेय के खाते मे भेज दिया पैसा मिलने के पश्चात प्रार्थी को पुनः फोन आया कि अगले घण्टे मे स्कूटी प्रार्थी के रानीपोखरी स्थित घर मे पहुंच जायेगी । प्रार्थी ने एक घण्टे बाद उक्त नम्बर मिलाये तो दोनो ही मोबाइल न0 बन्द पाये गये । मुकदमा उपरोक्त की विवेचना मे सम्बन्धित नम्बरो की काल डिटेल /पेटीएम डिटेल/डेटा डम्प तथा गिरोह द्वारा किये जा रहे मोबाइल फोन की आईएमईआई रन कराकर लगभग 100 मोबाइल नम्बरो की कॉल डिटेल का विश्लेषण किया गया। विश्लेषण से विवेचना मे एक संगठित गिरोह के द्वारा घटना को अलग- अलग हिस्सो मे अपराध घटित होना पाया गया तथा गिरोह अलवर हरियाणा से संचालित होना पाया गया। उपरोक्त गिरोह की गिरफ्तारी हेतु पुलिस महानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र से अनुमति प्राप्त कर दिनांक 09.08.2019 को राजस्थान के जनपद अलवर, भरतपुर हेतु टीम रवाना की गयी। दिनांक 09.08.19 से 13.08.19 तक अथक प्रयास के परिणाम स्वरूप दिनांक 13/08/19 को किशरौली , दौलत होटल थाना एमआई अलवर राजस्थान से

1- साकिर पुत्र फिरोजखान नि0 केसरोली थाना एम0आई0ए0 जनपद अलवर 2- नरेन्द्र जाटव पुत्र सिरिया राम नि0 नगली राजावत अलवर निठारी राजस्थान 3- अफजल खान पुत्र अब्दुल रसीद खान नि0 डाढा थाना एमआईए जनपद अलवर 4- राहुल खान पुत्र नूरा खान नि0 डाढे थाना एमआईए जनपद अलवर राजस्थान को गिरफ्तार लिया गया। साकिर से 02 फोन, 06 सिम, 01 आधार कार्ड, 01 पेन कार्ड, 06 डेबिट कार्ड
एक एमआई फोन आईएमआईनम्बर 868988032219591, ओप्पो फोन आईएमआईनम्बर 869875041596672,
4000 नगद,
06 सिम जिसमे आईडीया कम्पनी के 03 नम्बर 89912300000497625035, 89911100001431754935, 89911100001431754992, 02 एयरटेल कम्पनी के नम्बर 89916027082000430742, 899100090152245,
जीओ कम्पनी के 89918680400229026865,
एक आधार कार्ड,एक पेन कार्ड, 06 डेबिट कार्ड बीओआई बैक नम्बर 6069989744560102, इनटीगरल बैक नम्बर 6073212126887249 आईसीआईसीआई बैक नम्बर 4838344301000396 एचडीएफसी बैक 5129670406727136 पंजाब नेषनल बैक नम्बर 6070936117688025, फडरेल बैक नम्बर 5318290004999192।
राहुल खान से -02 फोन, 01 आधार कार्ड, 01 बीजा कार्ड, एक जीओ फोन, एक आनर फोन, एक आधार कार्ड, एक एक्सीस बैक का वीजा कार्ड नम्बर 4691980035571552 व 300 रूपये नगद।
अफजल खान से 01 फोन, 01 आधार कार्ड, 01 बोटर आईडी, 01 एटीएम, 01 पैन कार्ड,1- एक फोन ओप्पो आईएमआई नम्बर 869066044402874, एक आधार काडर्, एक वोटर आईडी, एक पेन कार्ड, एक एटीएम कार्ड तथा एक घटना में प्रयुक्त पीटीएम एकाण्ट मोबाईनम्बर 7011626271 सिम नम्बर 89918720400004693782।
नरेन्द्र जाटव से – 01 फोन, 01 पैन कार्ड. 01 वोटर आई.डी, 01 आधार कार्ड,1- एक फोन इनटेक्स आईईएमआई नम्बर 911591090620968, 911591050620976 एक पेन कार्ड एक वोटर आईडी एक पेटीएम कार्ड नम्बर 6080320418353928 व 100 नगद, श्रीमती मंजू बाई के नाम का आधार कार्ड। माल बरामद किया गया।
अभियुक्तों के विरूद्ध जनपद देहरादून के थाना डालनवाला, कैन्ट, पटेलनगर, में 1-मु.अ.स.154/19 धारा 420 भादवि थाना पटेलनगर (1 लाख 71 हजार रूपये ठगने के सम्बन्ध में) 2-मु.अ..स. 131/19 धारा 420 भादवि थाना डालनवाला (45,500/- रूपये ठगे जाने के सम्बन्ध में) 3-मु.अ.स. 91/1- धारा 420 भादवि थाना कैंट (45,880/- रूपये ठगे जाने के सम्बन्ध में)
पुलिस टीम में – श्री वीरेन्द्र सिंह रावत, क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश, 2- श्री पी0डी0 भट्ट, थानाध्यक्ष रानीपोखरी,3- उ0नि0 कुन्दन राम, थाना रानीपोखरी 4-कानि0 अनिरूध कुमार,5- कानि0 अखिलेश कुमार, थाना रानीपोखरी, 6- कानि0 प्रमोद, कानि0 नवनीत एसओजी देहरादून थे
@@@@@@@@@@@@@@@@@@@

Leave a Reply

Your email address will not be published.