ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनीता ममगांई के ज्ञापन पर निदेशक एम्स पद्मश्री रविकान्त ने स्थानीय निवासियों के लिए अलग पंजीकरण काउण्टर खुलवाया. पढिए janswar.Comमें.

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में अब ऋषिकेश नगरवासियों और राज्य के अन्य हिस्सों से उपचार के लिए आने वाले मरीजों के लिए ओपीडी पंजीकरण के लिए अलग से काउंटर शुरू कर दिए गए हैं। जिससे एम्स अस्पताल में बढ़ रही मरीजों की भीड़भाड़ के मद्देनजर स्थानीय रोगियों को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े। शुक्रवार को नगर निगम ऋषिकेश की मेयर अनीता ममगाईं ने एम्स निदेशक पद्मश्री रवि कांत से भेंट की और उन्हें ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने एम्स प्रशासन से संस्थान में लगातार बढ़ रही मरीजों की भीड़भाड़ के चलते ऋषिकेश नगर व उत्तराखंड के अन्य हिस्सों से उपचार के लिए आने वाले मरीजों को होने वाली दिक्कतों का हवाला दिया। साथ ही उन्होंने इस तरह की समस्या के मद्देनजर नगर क्षेत्र और राज्य के अन्य स्थानों से आने वाले मरीजों के लिए वाह्य रोगी विभाग ओपीडी पंजीकरण के लिए पृथक रजिस्ट्रेशन काउंटर स्थापित करने की मांग की। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने उनकी मांग को स्थानीय मरीजों के मद्देनजर वाजिब बताया और तत्काल ऋषिकेश व राज्य के अन्य भागों से आने वाले मरीजों के रजिस्ट्रेशन के लिए अलग से काउंटर शुरू करने के निर्देश जारी किए। शुक्रवार शाम से ही एम्स के ओपीडी ब्लॉक में यह सुविधा शुरू कर दी गई है। निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने बताया कि एम्स ऋषिकेश में मरीजों को वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा रही हैं, संस्थान अस्पताल में मरीजों को होने वाली तकलीफों को कम करने व उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने की दिशा में सततरूप से प्रयासरत है। उन्होंने बताया कि संस्थान में खोले गए दो नए पंजीकरण केंद्रों से स्थानीय व राज्यवासियों को ओपीडी रजिस्ट्रेशन में सहूलियत होगी और उन्हें इसके लिए लंबी लाइनों में अधिक वक्त जाया नहीं करना पड़ेगा। ज्ञापन के माध्यम से रखी गई मांगों पर तत्काल सहमति जताने पर ऋषिकेश मेयर अनीता ममगाई ने निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत का धन्यवाद ज्ञापित किया व उनके इस निर्णय को राज्यवासियों के हित में बताया।

जनस्वर डाट कॉम इसकार्य के लिए मेयर श्रीमती अनीता ममगांई व पद्मश्री प्रो. रविकान्त निदेशक एम्स का आभार व्यक्त करता है. -सम्पादक.

Leave a Reply

Your email address will not be published.