उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन का कया लोकार्पण #खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने को बनाई जाए ठोस योजना : मुख्य सचिव#11 दिसम्बर को जनपद पौड़ी गढवाल के प्रत्येक न्यायालय में राष्ट्रीय लोकअदालतों का होगा आयोजन।janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को हरिद्वार के बहादराबाद स्थित उतराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि  विश्वविद्यालय द्वारा संस्कृत शिक्षा को बढ़ाने का सराहनीय कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों से उनका विशेष लगाव रहा है, उनका काफी समय लखनऊ विश्वविद्यालय में बीता है, जब भी किसी विश्वविद्यालय का कोई कार्यक्रम होता है, तो वे अपने आप को जाने से रोक नहीं पाते हैं। उन्होंने कहा कि संस्कृत विश्व में सभी भाषाओं की जननी है। पूरी दुनिया में जब शिक्षा अथवा ज्ञान का उजाला नहीं हुआ था तब हमारे भारत में तक्षशिला और नालंदा जैसे विश्वविद्यालय विद्यमान थे। उस वक्त पूरी दुनिया को ज्ञान देने का कार्य अगर किसी ने किया तो वह भारत भूमि ने किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का मजबूत नेतृत्व मिला है। पूरी दुनिया में भारत का मान-सम्मान स्वाभिमान बढ़ाने का कार्य प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। योग दिवस को आज पूरी दुनिया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मना रही है।  प्रधानमंत्री ने 05 नवंबर को केदारनाथ में 400 करोड़ रुपए के कार्य का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। जल्द ही हम केदारनाथ मंदिर केबल कार द्वारा जा सकेंगे। सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहेब को भी रोपवे से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह आदि गुरु शंकराचार्य ने पूरे भारत को उत्तर से दक्षिण, पूरब से पश्चिम एक सूत्र में जोड़ने का कार्य किया उसी तरह आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी विकास रूपी सूत्र में पूरे देश को एक साथ जोड़ रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2025 के लिए राज्य का विजन रखा है, इस विजन को पूरा करने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना होगा।  वर्ष 2025 में 25 साल का राज्य युवा राज्य होने के साथ ही देश का श्रेष्ठ, उत्कृष्ट एंव आदर्श राज्य होगा, इस दिशा में वचनबद्ध एंव दृढ़ संकल्पित हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्कृत विश्वविद्यालय के स्टॉफ को सातवे वेतन आयोग के वेतनमान व एरियर भुगतान संबंधी दिक्कत को जल्द समाधान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि संस्कृत शिक्षा में रिक्त पदों को जल्द भरा जाएगा।
कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, विधायक श्री संजय गुप्ता, श्री आदेश चौहान, कुलपति प्रो० देवी प्रसाद त्रिपाठी,  कुलपति गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय डॉ रूप किशोर शास्त्री,कुलसचिव संस्कृत विश्वविद्यालय श्री गिरीश कुमार अवस्थी आदि मौजूद थे।


मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने खटीमा पहुंचकर नौसर पुलिया छठ पूजा स्थल, खुदागंज, बरी अंजनिया, अमाऊ ओम्कारेश्वर मन्दिर प्रांगण में आयोजित छठ पूजा व संजय पार्क छठ पूजा स्थल कार्यक्रम में शामिल हुए।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी प्रदेशवासियों को छठ पूजा की हार्दिक बधाई दी।  उन्होंने कहा कि छठी मईया की कृपा सदैव सभी पर बनी रहे।  सूर्योपासना का यह पावन पर्व हमें प्रकृति से जोड़ता है और शुद्धता, स्वच्छता और पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है। उन्होंने कामना करते हुए कहा कि भगवान भास्कर एवं छठी मइया सबकी मनोकामना पूर्ण करें।
उन्होंने अमाउ ओमकारेश्वर मंदिर प्रांगण की चार दिवारी छठ पूजा स्थान निर्माण एवं मंदिर सुंदरीकरण की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने ग्राम भूड़ महोलिया में 4 बीघा भूमि पर  छठ पूजा स्थल बनाने की घोषण की।

————————————————-खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने को बनाई जाए ठोस योजना : मुख्य सचिव
मिलावट से संबंधित मामलों की फास्ट ट्रैक में हो सुनवाई

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. सन्धु ने गुरुवार को सचिवालय में खाद्य पदार्थों में मिलावट के सम्बन्ध में उच्चाधिकारियों के साथ बैठक ली। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने के लिए ठोस योजना तैयार की जाए। उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों को एहसास कराना आवश्यक है कि आमजन के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने टेस्टिंग लैब निर्माण में तेजी लाने के भी निर्देश दिए हैं। साथ ही, खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने के लिए अभियान चलाए जाएं। यह अभियान सिर्फ त्यौहारी सीजन को देखते हुए न हो, बल्कि इसे नियमित आधार पर चलाया जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि फूड एडल्ट्रेशन को रोकने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि जब तक इसके प्रति आमजन जागरूक नहीं होगा तब तक फूड एडल्ट्रेशन को रोकना आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों की जानकारी देने वालों को रिवार्ड भी दिया जाना चाहिए ताकि लोग जानकारी देने को प्रोत्साहित हों।
मुख्य सचिव ने मिलावट से संबंधित मामलों की जनपदवार रिपोर्ट उपलब्ध कराए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि यह भी बताया जाए कि किस जनपद में कितने मामले कब से पेंडिंग हैं। उन्होंने मिलावट से संबंधित सभी मामलों को फास्ट ट्रैक पर निपटाने के निर्देश दिए। कहा कि मिलावट के गंभीर मामलों को प्राथमिकता के साथ शीघ्र से शीघ्र फैसला किया जाए।
मुख्य सचिव ने कहा कि नियमित जांच और कठोर कार्रवाई से ही खाद्य पदार्थों में मिलावटखोरी को रोका जा सकता है। उन्होंने इसके लिए ठोस एक्शन प्लान के साथ ही इसके कार्यान्वयन की टाइम लाइन निर्धारित किए जाने के निर्देश दिए।
————————————————

जनपद में आगामी 11 दिसंबर 2021 को जनपद के समस्त न्यायालयों में मुख्यालय पौड़ी, कोटद्वार, श्रीनगर,  लैंसडौन तथा धुमाकोट में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। जानकारी देते हुए जिला न्यायालय के सिविल जज व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव संदीप कुमार तिवारी ने बताया कि माननीय उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के दिशा निर्देशों के अनुसार जनपद में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाना है। जिसमें न्यायालय में लंबित विभिन्न प्रकार के वादों का निस्तारण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी 11 दिसंबर 2021 को होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत में फौजदारी शमनीय (ऐसे फौजदारी वाद जिनमें कानूनन समझौता संभव हो) संबंधी वादों के अलावा चेक बाउंस, वैवाहिक वाद, श्रम विवादों से संबंधित मामले मोटर दुर्घटना प्रतिकर वाद, धन वसूली व अन्य दीवानी वाद (किराया व्यादेश ,विनिर्दिष्ट अनुपालन वाद, सुखाधिकार वाद आदि)  सेवा संबंधी मामले (जिनमें वेतन भत्तों व सेवानिवृत्ति लाभों से संबंधित) वादों का निस्तारण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि लोक अदालत में राजस्व वाद जो जिला न्यायालय में लंबित हो, भूमि अधिग्रहण से संबंधित मामले तथा बिजली- पानी बिल संबंधी मामलो (अशमनीय को छोड़कर) का निस्तारण राष्ट्रीय लोक अदालत में किया जाएगा।
श्री तिवारी ने बताया कि न्यायालयों में अब तक न पहुंचने वाले विभिन्न प्रकृति के प्रकरणों विवादों को भी उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत में प्री लिटिगेशन के माध्यम से निपटाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिसका न्यायालय में इस प्रकार के वाद लंबित हैं अथवा न्यायालय में पहुंचने वाला है, को जनपद न्यायालय परिसर में स्थित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी के कार्यालय अथवा संबंधित न्यायालय में स्वयं या अधिवक्ता के माध्यम से प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर अपनी वादों को दिनांक 11 दिसम्बर 2021 को आयोजित होने वाले उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत निपटारा कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.