उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग एक सप्ताह के अन्दर यूके एसएसएससी की निरस्त परीक्षाओं को आयोजित करने का कलेंडर घोषित करेगा।

उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ० राकेश कुमार, पूर्व आई.ए.एस. द्वारा अवगत कराया गया है कि मा० केबिनेट की बैठक दिनांक 09 सितम्बर, 2022 में लिये गये निर्णय के क्रम में यूकेएसएसएससी की 23 परीक्षाओं के आयोजन का कार्यदायित्व उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग को सौंप दिया गया है, जिसके आलोक में आयोग द्वारा युद्ध स्तर पर अग्रेतर विभिन्न कार्यवाहियाँ प्रारम्भ कर दी गयी हैं, जो कि निम्नवत हैं: (क) दिनांक 10 सितम्बर, 2022 को उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग एवं यूकेएसएसएससी के अधिकारियों की आहूत बैठक में स्थिति का जायजा लिया गया तथा यह मंथन किया गया कि उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित की जा रही परीक्षाओं को बाधित किये बगैर उनके साथ-साथ उक्त 23 परीक्षाओं को भी त्वरित गति से शुचितापूर्वक ढंग से समानान्तर तौर पर ( in Parallel manner) सम्पादित किया जाए। (ख) पुनः आज दिनांक 12 सितम्बर, 2022 को लोक सेवा आयोग की बैठक में गहन विचारोपरान्त निम्नलिखित निर्णय लिये गये: 1. एक सप्ताह के अंदर परीक्षा कलेण्डर जारी किया जाएगा। 2. माह अक्टूबर-नवम्बर, 2022 में 03 से 04 महत्वपूर्ण परीक्षाओं की विज्ञप्ति प्राथमिकता के आधार पर जारी की जाएगी तथा माह दिसम्बर, 2022 जनवरी, 2023 में 03-04 परीक्षाओं का आयोजन सुनिश्चित किया जाएगा। 3. सम्बन्धित भर्तियों के परीक्षा पाठ्यक्रमों, भर्ती नियमों, विज्ञापन आदि का बारीकी से परीक्षण कर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी ताकि भविष्य में किसी भी विधिक अड़चन से बचा जा सके। 4. उपर्युक्त कार्य दायित्वों के सुचारू ढंग से संचालन हेतु पर्याप्त मानव एवं वित्तीय संसाधन की उपलब्धता हेतु उत्तराखण्ड शासन को आज ही अनुरोध पत्र प्रेषित किया गया है । 5. उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग जैसी गरिमामयी संवैधानिक संस्था के प्रति जनसामान्य एवं अभ्यर्थियों का पूर्ण विश्वास बनाए रखने के दृष्टिगत उनकी पृच्छाओं / शंकाओं, यदि कोई हों, आदि के निवारण हेतु आयोग में एक पृच्छा निवारण प्रकोष्ठ (Public Grievance Redressal Cell (PGRC) स्थापित किया जा रहा है। इसका विस्तृत विवरण (Contact number, email & Social Media handle etc.) आदि पृथक से जारी किया जायेगा। 6. अभ्यर्थियों से यह अनुरोध है कि वह संयम बरतते हुए परीक्षा कलेण्डर के अनुसार अपनी तैयारी करें, उक्त परीक्षा कलेण्डर एक सप्ताह के अंदर आयोग की वेबसाईट psc.uk.gov.in पर अपलोड कर दिया जाएगा। किसी भी संशय की स्थिति में PGRC से सम्पर्क स्थापित कर समाधान प्राप्त किया जा सकेगा।

*******

खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री  श्री चन्दनराम दास द्वारा उत्तराखण्ड खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित प्रशिक्षण केन्द्र भोगपुर (रानीपोखरी) देहरादून का निरीक्षण किया गया।
भोगपुर के कताई प्रशिक्षण केन्द्र में 18 कताईकर, 02 बुनकर वर्तमान में सुचारू रूप से कार्य कर रहे हैं। मंत्री ने केन्द्र में सभी कताईकर, बुनकरों के साथ बातचीत की और उनकी समस्याओं को सुना। मंत्री स्वयं खादी के बहुत जानकार हैं अतः उन्हें खादी से अगाध लगाव है। उन्होंने घर-घर खादी हर-घर खादी की बात कही और सभी को प्रोत्साहित किया। मंत्री के इस निरीक्षण से विभाग का मनोबल बहुत बढ़ा। सभी ने हृदय से मंत्री का आभार व्यक्त किया।
कार्यक्रम में खादी बोर्ड के उपमुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री एस0डी0 मासीवाल, जिला खादी एवं ग्रामोद्योग अधिकारी देहरादून आदि अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे

*********

जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ निर्वाचन आयोग के मानकीकरण के अनुसार पुनर्निधारण, एकीकरण, उच्चीकरण, भवन परिवर्तन आदि के संशोधन प्रस्ताव पर विचार-विमर्श एवं सहमति हेतु समीक्षा बैठक आयोजित की गयी।
बैठक में जिलाधिकारी ने सभी राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के सम्मुख विभिन्न तहसीलों से प्राप्त विभिन्न संशोधन से संबंधित प्रस्तावों को विस्तारपूर्वक पढ़कर साझा किया गया तथा इस संबंध में सभी पार्टी के पदाधिकारियों से सुझाव प्राप्त किये गये। विभिन्न पार्टी पदाधिकारियों से प्राप्त सुझावों को स्वीकार करते हुए उस पर उचित विचार-विमर्श करते हुए संबंधित तहसीलों से संशोधन प्रस्ताव प्राप्त करने की बात कही। जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों को अवगत कराया कि संशोधित प्रस्तावों की जानकारी सभी राजनीतिक पदाधिकारी अपने स्तर पर से भी जनमानस को दे सकते हैं।
जिलाधिकारी ने पार्टी पदाधिकारियों को अवगत कराया कि आज साझा किये गये प्रस्तावों में यदि कोई संशोधन चाहते हैं अथवा किसी संशोधित प्रस्ताव पर यदि कोई आपत्ति हो तो उस संशोधन अथवा आपत्ति को 20 सितम्बर, 2022 तक लिखित रूप में दे सकते है। संशोधन अथवा किसी तरह की आपत्ति से संबंधित समय से प्राप्त प्रस्तावों पर उचित संज्ञान लिया जायेगा, जिससे सभी मतदाता अपने मतदान का प्रयोग सहजता, सरलता व बिना बाधा के सुरक्षित रूप से कर सकें।
आयोजित बैठक मेें अपर जिलाधिकारी इला गिरी व राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.