उत्तराखण्ड के राज्यपाल से मॉरीशस की उच्चायुक्त काँगो के उप उच्चायुक्त तथा14 रैपिड, मेजर जनरल जी.एस. चौधरी ने अलग अलग मुलाकात की।# मुख्यमंत्री ने वन्यजीव बोर्ड की 17 वींं बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोर्ड की बैठक लम्बे समय से आयोजित न होने पर अप्रसन्नता प्रगट की।#जनपद पौड़ी गढवाल में जगह जगह योगासन कर योग दिवस मनाया गया।www.Janswar.com

 

-अरुणाभ रतूड़ी

 

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से मंगलवार को राजभवन में भारत में मॉरिशस की उच्चायुक्त शान्ति बाई हनुमान जी घोष व कांगो के उप उच्चायुक्त गमवेला ने शिष्टाचार भेंट की। राज्यपाल ने दोनों देशों के राजनयिकों को स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया।  इस दौरान उत्तराखण्ड राज्य तथा मॉरिशस और कांगो के मध्य विभिन्न प्रकार के तकनीकी कौशल, ज्ञान-विज्ञान के आदान-प्रदान पर बातचीत हुई।

राज्यपाल ने दोनों देशों के राजनयिकों से बेस्ट प्रेक्टिस को आपस में साझा करने का सुझाव दिया। उन्होंने मॉरिशस की उच्चायुक्त से अनुरोध किया कि मॉरिशस व उत्तराखण्ड की महिलाओं के मध्य ज्ञान-विज्ञान एवं अनुभव के आदान-प्रदान हेतु कार्यक्रम पर विचार किया जायें। राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड में महिला स्वयं समूह बेहतर कार्य कर रहे हैं उन्हें भी अनुभव के आदान-प्रदान हेतु मॉरिशस के भ्रमण का सुझाव दिया। राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड योग, ध्यान, आयुर्वेद, मर्म चिकित्सा, वैदिक एवं यौगिक ज्ञान का केन्द्र है। उन्होने कहा कि इस क्षेत्र में दोनों देशों को सहयोग प्रदान किया जा सकता है। इस दौरान विभिन्न विषयों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई।

******

 

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से मंगलवार को जी.ओ.सी. 14 रैपिड, मेजर जनरल जी.एस. चौधरी ने मुलाकात की। इस दौरान मेजर जनरल जी.एस. चौधरी ने राज्यपाल के समक्ष अग्निपथ योजना के बारे में प्रस्तुतीकरण दिया। उन्होंने योजना की पृष्ठ भूमि, एक्शन प्लान व योजना से होने वाले फायदों के बारे में विस्तृत प्रकाश डाला। इस दौरान उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना की अधिसूचना जारी कर दी गई है। उन्होंने कहा कि यह युवाओं के लिए अग्निवीर बनने का बड़ा मौका है। अग्निपथ योजना देश एवं देश की सुरक्षा को और अधिक सुदृढ़ बनाने की और बड़ा कदम है। अग्निपथ योजना से सेना में आधुनिकता के साथ कई बदलाव देखने को मिलेंगे। उन्होंने राज्यपाल को योजना के सभी पहलुओं पर विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने प्रस्तुतीकरण की सराहना करते हुए कहा कि निश्चित रूप से अग्निपथ योजना से भारतीय सेना में नौजवानों की संख्या बढ़ेगी। उन्होंने कहा की सशस्त्र बलों के भीतर कौशल व आधुनिकता का विकास होगा। इसके साथ-साथ कईं बदलाव भी देखने को मिलेंगे जो सेना के हित में होंगे। उन्होंने कहा की राष्ट्रीय सुरक्षा एवं राष्ट्र निर्माण हेतु अग्निपथ योजना महत्वपूर्ण कदम साबित होगी। इस दौरान अपर सचिव श्रीमती स्वाती एस. भदौरिया, कर्नल विक्रान्त मेहता आदि उपस्थित रहे।

*********

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में सचिवालय स्थित विश्वकर्मा भवन के वीर चंद्र सिंह गढवाली सभागार में उत्तराखण्ड राज्य वन्यजीव बोर्ड की 17 वींं बैठक आयोजित की गई। काफी लम्बे समय से बोर्ड की बैठक न होने पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताते हुए कहा कि बोर्ड की बैठक नियमित तौर पर समय से आयोजित की जाएं। सरलीकरण, समाधान और निस्तारण के मंत्र पर काम करना है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी देश में नया वर्क कल्चर लाए हैं। हमें राज्य में जनहित के उद्देश्य से कार्य संस्कृति में सुधार लाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठको में स्वागत संबंधी औपचारिकताओं को न करते हुए सीधे बैठक के एजेंडा पर चर्चा की जाए। इससे चर्चा के लिये अधिक समय मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठको में केवल बातचीत ही नहीं बल्कि समाधान भी निकले।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास में वन विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका है। वन संरक्षण, वन्यजीव संरक्षण और प्रकृति संरक्षण बहुत जरूरी है, साथ ही राज्य का विकास भी जरूरी है। हमें इकोलोजी और ईकोनोमी मे समन्वय बनाकर चलना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में मानव वन्यजीव संघर्ष को रोकने पर प्राथमिकता से काम करना है। खासतौर पर खेती को बंदरों से बचाने के लिये यथासम्भव तकनीक का उपयोग किया जाए। इसका कोई स्थायी समाधान खोजा जाए। हरेला पर्व पर विशेष तौर पर अधिक से अधिक फलदार पेड़ लगाए जाएं। हरेला पर्व केवल वनविभाग तक सीमित न रहे, इसे जन जन का उत्सव बनाना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य स्तर पर अनुमोदन के बाद जो भी प्रस्ताव केंद्र स्तर पर जाते हैं, उनका लगातार फॉलोअप सुनिश्चित किया जाए। इसके लिये जरूरत होने पर अधिकारी विशेष को नियुक्त किया जा सकता है।
उत्तराखण्ड राज्य वन्यजीव बोर्ड की बैठक में सोनप्रयाग से श्री केदारनाथ धाम के लिये रोपवे, गोविंदघाट से हेमकुण्ट साहिब रोपवे सहित विभिन्न प्रकरणों के वन भूमि हस्तांतरणों पर विचार विमर्श किया गया। यह भी निर्णय लिया गया कि मानव-वन्यजीव संघर्ष शमन उत्कृष्टता केंद्र और वन्यजीव स्वास्थ्य उत्कृष्टता केंद्र की प्रदेश में स्थापना की जाएगी। स्थानीय समुदायों के सहयोग से प्राइमरी रेस्पोंस टीमों का गठन किया जाएगा जो कि वन व वन्य जीव संरक्षण के साथ ही वनाग्नि को रोकने पर भी काम करेंगी। टाईगर रिजर्व, संरक्षित क्षेत्र व अन्य पर्यटन वन क्षेत्रों में पर्यटकों के बरताव के संबंध में गाईडलाईन बनाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने इसमें सभी स्टेकहोल्डर्स की सलाह लेने के निर्देश दिये।
बैठक में वन मंत्री श्री सुबोध उनियाल, विधायक श्रीमती रेणु बिष्ट, श्री अनिल नौटियाल, मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, पीसीसीएफ श्री विनोद कुमार सिंघल, प्रमुख सचिव श्री आरके सुधांशु, श्री एल फैनई, सचिव श्री दिलीप जावलकर, चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन डॉ पराग मधुकर धकाते सहित उत्तराखण्ड राज्य वन्यजीव बोर्ड के सदस्य उपस्थित थे।

******

जनपद पौड़ी में आज अंतराष्ट्रीय योग दिवस जनपद में हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया। कैबिनेट मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने बेस अस्पताल श्रीनगर में आयोजित ’योगा फॉर ह्यूमैनिटी’ थीम पर आधारित कार्यक्रम का द्वीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। ज़िला मुख्यालय इडोंर स्टेडियम पौड़ी में अध्यक्षा जिला पंचायत श्रीमती शांति देवी व नगर पालिका अध्यक्ष यशपाल बेनाम ने शुभारंभ किया। वहीं ब्लाक मुख्यालयों व अन्य स्थानों पर भी योग दिवस भव्य रूप से मनाया गया।
श्रीनगर में मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा कि योग जीवन का वह दर्शन है जो मनुष्य को उसकी आत्मा से जोड़ता है। उन्होंने कहा कि आरोग्य रहने के लिए योग जरूरी है, जो कुछ आज योग कार्यक्रम में सिखाया गया है उसे जरूर अपने जीवन में अपनाएं।
इंडोर स्टेडियम पौड़ी में आयोजित कार्यक्रम में अध्यक्षा जिला पंचायत श्रीमती शांति देवी ने कहा कि योग हमारे शरीर, मन और भावना को स्थिर और नियंत्रित भी करता है। उन्होने योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाने और स्वस्थ जीवन जीने का संदेश दिया। कहा कि योग साधना के द्वारा हम शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं।
वीएनए माला यमकेश्वर में मुख्य अतिथि के रूप में ब्लाक प्रमुख आशा भट्ट ने प्रतिभाग किया, जहां कुल 100 लोगों ने प्रतिभाग किया। राजकीय इन्टर कॉलेज सतपुली में कुल 65 लोगों ने, टीजीटी इंटर कालेज सिम्बलचौड़ में 125 लोगों ने, सिद्धबली मन्दिर परिसर कोटद्वार में 61 लोगों ने, इंडोर स्टेडियम पौड़ी में 251 लोगों ने तथा राजकीय मेड़िकल कॉलेज में 210  लोगों ने योगा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।
योग दिवस के अवसर पर सिम्बलचौड़ कोटद्वार में अध्यक्ष गौ सेवा समिति राजेन्द्र प्रसाद अन्थवाल, निदेशक जिला सहकारी बैंक श्रीमती गीता बिष्ट, सतपुली में नगर पंचायत अध्यक्षा अंजना वर्मा, सिद्धबली में अध्यक्ष मंडी समिति सुमन कोटनाला, श्रीनगर में उप जिलाधिकारी श्रीनगर अजयवीर सिंह, सहित जिला स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों नेहरु युवा केंद्र, शिक्षा विभाग, एनडीआरएफ, पुलिस, एनसीसी कैडेट, पीआरडी कार्मिकों सहित अन्य लोगों ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.