आपदा प्रबंधन एवं भूकम्परोधी तकनीक के क्षेत्र में जापान से सहयोग लिया जाए-मुख्यमंत्री#अल्मोड़ा में मुख्यमंत्री के प्रस्तावितआगमन की तैयारियों का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण,दिये निर्देश#वन विश्राम भवन तमियार का पुनर्निर्माण कर पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाय।#अल्मोड़ा के विकास हेतु स्थानीय विधायक ने मुख्यमंत्री को दस बिन्दुओं का मांगपत्र भेजा#जनजातीय समुदायों की शोभा यात्रा का फ्लैग ऑफ किया।#एसएसपी अल्मोड़ा की पीआरओ/मीडिया प्रभारी के स्थानान्तरण पर दी भावभीनी विदाई।www.janswar.com

 

-अरुणाभ रतूड़ी

  • आपदा प्रबंधन एवं भूकम्परोधी तकनीक के क्षेत्र में जापान से सहयोग लिया जाए-मुख्यमंत्री
  • उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों की मार्केटिंग के लिए जापान से सहयोग लिया जाए।
  • फिक्की फोरम ऑफ पार्लियामेंटेरियन्स द्वारा जापानी दूतावास के सहयोग से संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने किया प्रतिभाग।
  • जापानी डेलिगेशन का जापानी भाषा में बोलकर मुख्यमंत्री ने किया स्वागत

 

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में फिक्की फोरम ऑफ पार्लियामेंटेरियन्स द्वारा जापानी दूतावास के सहयोग से आयोजित संवाद कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर राज्य से जुड़े विभिन्न विषयों पर एवं जापान और उत्तराखण्ड के बीच पार्टनरशिप को बढ़ाने के लिए चर्चा हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जापानी प्रतिनिधिमण्डल का जापानी भाषा से शुरूआत कर स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड भूकम्प एवं आपदा की दृष्टि से संवेदनशील राज्य है। आपदा प्रबंधन एवं भूकम्परोधी तकनीक के क्षेत्र में जापान राज्य को क्या सहयोग दे सकता है, इस दिशा में प्रयास किये जाएं। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में डिजास्टर मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट के लिए जापान से सहयोग लिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में पर्यटन, कृषि, हॉर्टीकल्चर के क्षेत्र में अनेक संभावनाएं हैं। इनको बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास भी किये जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों की वैल्यू एडिशन कर मार्केटिंग में जापान से किस प्रकार सहयोग लिया जा सकता है, इस ओर ध्यान दिया जाए।  उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के स्थानीय कल्चर एवं सांस्कृतिक विरासत से संबंधित जानकारी एवं अन्य अध्ययन के लिए जापान से कोई भी प्रतिनिधिमंडल उत्तराखण्ड आना चाहते हैं, तो उनका देवभूमि उत्तराखण्ड में स्वागत है। राज्य द्वारा इसके लिए हर संभव सहयोग दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड योग, आयुष, वेलनेस टूरिज्म के क्षेत्र में अग्रणी राज्य है। इन क्षेत्रों में जापान को जो भी सहयोग की आवश्यकता होगी, वह दी जायेगी। इस अवसर पर सांसद  एवं फिक्की फोरम ऑफ पार्लियामेंटेरियन्स के अध्यक्ष श्री राजीव प्रताप रूडी, भारत जापान दूतावास के उप प्रमुख कुनिहिको कावाजू, फिक्की के डिप्टी सेक्रेटरी जनरल श्री मनीष सिंघल, सचिव डॉ. पंकज कुमार पाण्डेय, श्री बी.वी.आर.सी पुरूषोत्तम, महानिदेशक उद्योग श्री रोहित मीणा आदि उपस्थित थे।

**********

जिलाधिकारी वंदना ने मुख्यमंत्री के प्रस्तावित अल्मोड़ा आगमन के कार्यक्रम की तैयारियों का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए।

अल्मोड़ा, 15 नवंबर 2022 (अशोक कुमार पाण्डेय): जनपद में आगामी 19 नवंबर(प्रस्तावित) को होने वाले आजीविका महोत्सव तथा महोत्सव में आयोजित होने वाली गतिविधियों की तैयारियों तथा आजीविका महोत्सव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के प्रस्तावित भ्रमण के संबंध में जिलाधिकारी वंदना ने आज राजकीय पुस्तकालय, मल्ला महल तथा हवालबाग ब्लॉक परिसर का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने राजकीय पुस्तकालय का निरीक्षण किया। उन्होंने पुस्तकालय के अवशेष सिविल कार्यों को अनिवार्य रूप से 2 दिन में पूरा करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि पुस्तकालय में रखी जाने वाली पुस्तकों को भी निर्धारित स्थान पर रखकर पुस्तकालय का संचालन करना सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि पाठकों के बैठने की व्यवस्था समेत समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं को 2 दिनों में पूरा कर लिया जाए। तत्पश्चात जिलाधिकारी ने मल्ला महल में आयोजित होने वाली सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम के लिए कार्यक्रम की प्रस्तावित रूपरेखा को परखा तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने मल्ला महल में लगने वाले मंच, दर्शक दीर्घा, बैठने की व्यवस्था समेत सभी व्यवस्थाओं के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
तत्पश्चात जिलाधिकारी ने ब्लॉक परिसर हवालबाग का भ्रमण किया तथा यहां आयोजित होने वाले आजीविका महोत्सव की सभी व्यवस्थाओं के लिए हो रही तैयारियों की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने विभागीय स्टॉल, विभागीय कार्यशाला, लोन मेला, तथा आगंतुकों की अन्य व्यवस्थाओं के लिए भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
यहां जिलाधिकारी ने विभिन्न ग्रामों से आए ग्राम प्रधानों से भी वार्ता की तथा उनके गांव से संबंधित विभिन्न समस्याओं तथा विकास योजनाओं पर चर्चा की साथ ही ग्राम प्रधानों द्वारा प्रस्तावित विभिन कार्यों को करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।
इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय तथा मुख्य विकास अधिकारी अंशुल सिंह समेत अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
**********

वन विश्राम भवन तमियार का पुनर्निर्माण कर पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाय।

गजा:(डी.पी.उनियाल) नरेन्द्र नगर विधानसभा क्षेत्र का गजा तमियार, तिमली शिवपुरी मोटरमार्ग पर पर्यटन स्थलों को विकसित किया जा सकता है बशर्ते गजा से 09किलोमीटर पर स्थित तमियार में पुराने बन विश्राम भवन का पुनर्निमाण किया जाता । यह वनविश्राम भवन सन् 1962-63 में तत्कालीन प्रभागीय वनाधिकारी चैन सिंह द्वारा जंगलों के निरीक्षण के लिए बनवाया गया था। आपको बता दें कि गजा तमियार सड़क की चौड़ाई कम थी तथा वन विभाग द्वारा लीसा टिपान के लिए बनवाई गई थी जो कि विगत पंचवर्षीय योजना में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में शामिल होने के बाद अब पी एम जी एस वाई द्वारा गजा से शिवपुरी ऋषिकेश तक तैयार की गई है। यह मार्ग बांज, बुरांश,काफल, भमोरा , चीड़, देवदार के घने जंगलों के बीच से होकर गुजरता है, अलौकिक छटा देखते ही बनती है, तमियार तिमली के आसपास होम स्टे योजना से ग्रामीणों को जोड़ा जाय तो पर्यटन की अपार संभावनाएं बनती हैं । तमियार स्थित जीर्ण शीर्ण अवस्था में लावारिस हालत में वन विश्राम भवन या तो पशुओं की शरणस्थली बनता जा रहा है या फिर सड़क पर काम कर रहे मजदूरों के लिए आश्रय स्थल, जबकि इस भवन में रसोई घर से लेकर अधिकारियों व कर्मचारियों को रहने के लिए अलग-अलग कमरे बने हुए थे। इसी स्थान के ठीक ऊपर चढाई पर प्रसिद्ध घंटाकर्ण मंदिर है,बनविश्राम भवन निर्माण कार्य के लिए धनराशि स्वीकृत होती तो अच्छा पर्यटन स्थल विकसित हो सकता है ,

*********

अल्मोड़ा के विकास हेतु स्थानीय विधायक ने मुख्यमंत्री को दस बिन्दुओं का मांगपत्र भेजा

अल्मोड़ा(अशोक कुमार पाण्डेय)अल्मोड़ा ने अल्मोड़ा के विधायक मनोज तिवारी ने मुख्यमंत्री को भेजे मांगपत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री द्वारा उनके विधानसभा क्षेत्र अल्मोड़ा की जन आवश्यक्ताओं की पूर्ति एवं क्षेत्र के विकास के लिए दस विकास योजनाओं का प्रस्ताव उपलब्ध करवाने को पत्र जारी किया गया है।जिस क्रम में उनके द्वारा विधानसभा की दस अति आवश्यक विकास योजनाओं का प्रस्ताव उपलब्ध करवाया जा रहा है।इन योजनाओं में अल्मोड़ा में पेयजल की भविष्य की समस्याओं को देखते हुए सरयू शेराघाट अल्मोड़ा पम्पिंग योजना की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की जाए। युवाओं को तकनीकी उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए अल्मोड़ा विधानसभा में इंजीनियरिंग कालेज के निर्माण के लिए प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की जाए।पर्वतीय क्षेत्रों में हृदय रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उनके उचित उपचार हेतु अत्याधुनिक सुविधाओं एवं दक्ष हृदय विशेषज्ञों से युक्त मय हार्ट केयर यूनिट की स्थापना को स्वीकृति दी जाए। विधानसभा के धार्मिक पर्यटन स्थलों की महत्ता को देखते हुए शक्तिपीठ मां स्याही देवी मन्दिर एवं शक्तिपीठ मां कसारदेवी मन्दिर एवं शक्तिपीठ मां बानड़ीदेवी मन्दिर को अल्मोड़ा नगर तक रोपवे योजना से जोड़ने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की जाए।बच्चों की बढ़ती खेलकूद की सम्भावनाओं को देखते हुए अल्मोड़ा नगर में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त स्पोर्ट्स कालेज की स्वीकृति प्रदान की जाए।अल्मोड़ा नगर की मुख्य बाजार में पारम्परिक पर्वतीय शैली के प्रकारों से युक्त मार्ग के निर्माण को स्वीकृति प्रदान की जाए। विधानसभा के विकासखण्ड भैसियाछाना के बाड़ेछीना में पालिटेक्निक के भवन का नवनिर्माण एवं छात्र छात्राओं हेतु दो नये व्यवसायिक ग्रेडों की स्वीकृति प्रदान की जाए।अल्मोड़ा नगर के आन्तरिक मोटर मार्ग एवं चारों ओर के मोटर मार्गों में सड़क किनारे वाली निर्माण एवं हाटमिक्स डामरीकरण की स्वीकृति प्रदान की जाए। विकासखण्ड लमगड़ा के हाईस्कूल ढौरा के उच्चीकरण की स्वीकृति प्रदान की जाए। विकासखण्ड हवालबाग के समीप मिनी स्टेडियम की स्वीकृति प्रदान की जाए।पत्र के माध्यम से विधायक तिवारी ने मुख्यमंत्री से आशा व्यक्त की है कि विकास की इन योजनाओं को विधानसभा की जनता के हितों को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर आर्थिक संसाधनों के साथ स्वीकृति प्रदान करेंगे।

**********़

 

 

मुख्यमंत्री ने  जनजातीय समुदायों की शोभा यात्रा का फ्लैग ऑफ किया। 

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को जनजातीय गौरव दिवस के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय से जनजातीय समुदायों की शोभा यात्रा का फ्लैग ऑफ किया। भगवान बिरसा मुण्डा जी की जयंती के उपलक्ष्य में मनाये जा रहे जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर उत्तराखण्ड राज्य की जनजातियों के लोगों ने शोभायात्रा निकाली। इस अवसर पर मुख्यमत्री ने भगवान बिरसा मुण्डा जी के स्वतन्त्रता संग्राम मे योगदान को याद करते हुए उन्हे नमन किया तथा सभी को जनजातीय गौरव दिवस पर सभी को बधाई दी।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु चौहान, जनजाति विभाग के निदेशक श्री संजय टोलिया, अपर निदेशक श्री योगेन्द्र रावत, समन्वयक श्री राजीव सोलंकी आदि उपास्थित रहे।

********

एसएसपी अल्मोड़ा की पीआरओ/मीडिया प्रभारी के स्थानान्तरण पर दी भावभीनी विदाई।

अल्मोड़ा(अशोक कुमार पाण्डेय)  श्रीमती हेमा ऐठानी पीआरओ एसएसपी अल्मोड़ा के जनपद अल्मोड़ा से जनपद नैनीताल स्थानान्तरण होने पर पुलिस लाईन अल्मोड़ा के सभागार में जनपद के समस्त क्षेत्राधिकारी, प्रतिसार निरीक्षक, निरीक्षक स्थानीय अभिसूचना इकाई,समस्त पत्रकार बन्धुओं, समस्त थाना प्रभारियों/शाखा प्रभारियों सहित अन्य अधिकारी/कर्म0गण की उपस्थिति में विदाई समारोह का आयोजन कर नम आँखो से भावभीनी विदाई दी गयी।

विदाई समारोह का मंच संचालन उपनिरीक्षक दामोदर कापड़ी द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाले पीआरओ हेमा ऐठानी के जनपद नियुक्त के दौरान किये गये सराहनीय कार्यो का बखान किया गया। सीओ आपरेशन सुश्री ओशिन जोशी, निरीक्षक एलआईयू कमल पाठक, थानाध्यक्ष भतरौजखान निरीक्षक संजय पाठक, थानाध्यक्ष द्वाराहाट राजेन्द्र सिंह बिष्ट, प्रभारी एसओजी सुनील धानिक, प्रभारी एएनटीएफ सौरभ भारती, तथा कानि0 कविन्द्र देउपा मीडिया सैल* द्वारा इनके द्वारा पुलिस विभाग में *कर्तव्यनिष्ठान, ईमानदारी, कड़ी मेहनत व लगन के साथ किये गये सराहनीय कार्यो के अतिरिक्त आमजनमानस/ मीडिया* के साथ बेहतर समन्वय रखकर आमजनमानस में *जागरुकता पहुचाने/नगर के सीनियर सीटिजनों/ कार्यालय में आने वाले फरियादियों की समस्याओं को भली-भाँति सुनकर निदान हेतु किये गये प्रयासों की भी प्रशंसा* की गयी साथ ही उपस्थित पुलिस बल से भी इनके कार्यो से प्रेरणा लेकर कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का पालन करने को कहा। अपने वक्तव्य देते समय सभी वक्ताओं की आँखो में आँसू आ गये थे।
*श्री प्रदीप कुमार राय, एसएसपी अल्मोड़ा ने भी इनके सम्मान में अपना वक्तव्य कहा कि पुलिस की ड्यूटी काफी चुनौतीपूर्ण* होती है अगर वह महिला हो तो यह और भी चुनौतीपूर्ण हो जाता है क्योकि उन्हें पारिवारिक दायित्वों का भी निर्वहन करना होता है। श्रीमती हेमा ऐठानी द्वारा पीआरओ की ड्यूटी के अतिरिक्त, अपने सीनियर अधिकारियों द्वारा दिये गये टास्कों को पूर्ण करना हो, मीडिया मैनेजमैण्ट, डे-केयर, सीनियर सीटिजन व आमजनमानस के साथ एक अच्छा तालमेल रखते हुए सभी दायित्वों का बखूबी निर्वहन किया गया। इसके अतिरिक्त उपवा के तहत भी इनके द्वारा बेहतरीन कार्य करते हुए पुलिस परिवार की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सार्थक प्रयास किये गये जो कि सराहनीय है। साथ ही यह भी कहा कि *आपको सम्मान दिलाने के लिए कंधो पर सितारे व पद होना ही जरुरी नही है आपके द्वारा किये जा रहे कार्य भी आपको सबसे अलग पहचान/सम्मान दिला सकते हैं।*
*आरक्षी हेमा ऐठानी* पीआरओ ने *इस कथन को शत प्रतिशत सार्थक किया है।*
अंततः हेमा ऐठानी, पीआरओ एसएसपी अल्मोड़ा द्वारा अपने जनपद नियुक्ति के दौरान किये गये कार्यो/अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि मैं अपने उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन/प्रेरणा से सीख लेते हुए पुलिस विभाग में जनपद अल्मोड़ा में 15 वर्ष की सेवा की जिसमें मेरे द्वारा विभिन्न शाखाओं में कार्यरत रहते हुए कई चुनौतीपूर्ण दायित्वों का निर्वहन किया गया। *मैं अपनी सफलता/सम्मान का श्रेय पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों व सहकर्मियों सहित अल्मोड़ा नगर की सम्मानित जनता, वरिष्ठ जनों, महिलाओं, युवाओं व जनपद के विभिन्न संगठनों द्वारा दिये गये अमूल्य सहयोग/सुझावों को दिया।

मीडिया प्रभारी के रुप में कार्य करते हुए जनपद के सम्मानित पत्रकार बन्धुओं को नमन करते हुए कहा कि पुलिस विभाग द्वारा किये जा रहे सराहनीय कार्यो, जागरुकता कार्यक्रमों को अधिक से अधिक विभिन्न माध्यमों से जनमानस तक पहुँचाने में निरन्तर सहयोग रहा है जिसे आमजनमानस जागरुक होकर लाभान्वित हो रही है, भविष्य में भी पुलिस विभाग को इसी तरह सहयोग प्रदान करने की अपेक्षा करते हुए सभी पत्रकार बन्धुओं का आभार व्यक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.