आन्दोलन का 43वां दिन, यूकेडी अनशनकारी को प्रशासन ने उठाया, महिला कार्यकर्ता बैठी अनशन पर-जनस्वर.डॉट.कॉम.

-शिवप्रसाद सेमवाल

यूकेडी अनशनकारी को प्रशासन ने उठाया, महिला कार्यकर्ता बैठी अनशन पर

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोईवाला का प्रो बोनो एग्रीमेंट समाप्त करने की मांग को लेकर पिछले 5 दिन से अनशन कर रहे परमानंद बलोदी की तबीयत खराब होने पर प्रशासन ने देर रात जबरन उठाकर कोरोनेशन अस्पताल में भर्ती कर दिया।इसके पश्चात उत्तराखंड क्रांति दल की महिला मोर्चा संगठन मंत्री सरोज रावत अनशन पर बैठ गई हैं। उत्तराखंड क्रांति दल के आंदोलन का आज 43 वां दिन था।

उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय मीडिया प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत के निजी सचिव आर एस देव के अनुसार स्वास्थ्य सचिव कोरोना संक्रमित होने पर अस्पताल का अनुबंध समाप्त करने की कार्यवाही में विलंब हो रहा है, वैकल्पिक व्यवस्था होते ही अनुबंध निरस्त कराने का आदेश करा दिया जाएगा।

उत्तराखंड क्रांति दल के जिलाध्यक्ष संजय डोभाल ने एक बार फिर से दोहराया कि अनुबंध निरस्त होने तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

यूकेडी के केंद्रीय सचिव केंद्रपाल सिंह तोपवाल ने बताया कि आंदोलन को तेज करते हुए महिला मोर्चा की टीम ने भी अनशन में भागीदारी करने का निर्णय लिया है।

यूकेडी महिला मोर्चा की नगर अध्यक्ष बीना नेगी ने बताया कि महिला अनशनकारी होने के मद्देनजर अलाव और अन्य सुरक्षा व्यवस्थाओं के लिए उप जिलाधिकारी को भी ज्ञापन सौंपा गया है।

इस दौरान निर्मला भट्ट और तारा देवी आदि के संयोजन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बेहतरी के लिए ईश्वर से फरियाद करते हुए पूरे दिन भर भजन कीर्तन करते रहे।

आंदोलन को अपना समर्थन देने के लिए हरिद्वार से पर्वतीय महासभा के अध्यक्ष जयप्रकाश तथा मंत्री संतोष सेमवाल के नेतृत्व में गब्बर सिंह रावत, तेज सिंह रावत और धर्मवीर कुमार आदि पदाधिकारी आंदोलन स्थल पर आए और पूर्ण समर्थन का वादा किया।

आंदोलन के 43 वें दिन समाजसेवी अमित मैंदोली शशि बाला, लक्ष्मी देवी, चंपा देवी, राधा देवी, मीना नौटियाल, सपना थापा, अनीता शर्मा, मीना थपलियाल, अंजू रावत, हरदेई देवी, उषा देवी, आशा देवी, आशा पुंडीर, पुष्पा देवी, आशा नेगी, पार्वती, राधा गिरी, रोशनी रावत, मालती पोखरियाल, जीवानंद भट्ट, गिरधारी लाल नैथानी, महादेव नौटियाल आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.