अध्यक्ष उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग देहरादून द्वारा आज सर्किट हॉउस पौड़ी में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक ली गई।Janswar.com

श्री वी.के. बिष्ट (पूर्व मुख्य न्यायाधीश उच्च न्यायालय सिक्किम एवं पूर्व वरिष्ठ न्यायाधीश मा. उच्च न्यायालय नैनीताल) मा. अध्यक्ष उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग देहरादून द्वारा आज सर्किट हॉउस पौड़ी में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक ली गई। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा कि अपने कार्य/दायित्वों का निर्वाह्न पूर्ण जिम्मेदारी के साथ करें। कहा कि बच्चों पर विशेष ध्यान दें तथा उन्हें समय देकर अपनी जिम्मेदारियों का एहसास जरूर करायें।
मा. अध्यक्ष उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग श्री बिष्ट ने स्कूलों में शौचालयों की स्थिति, कार्मिकों के वेतन, बॉयोमेट्रिक उपस्थिति आदि की जानकारी लेते हुए शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि स्कूलों में स्वयं विजिट करें और जहां शौचालय ठीक नहीं हैं उन्हें ठीक करवायें। साथ ही उन्होंने सींकू में लिपिक के काफी समय से अनुपस्थित रहने पर उन्हें नोटिस जारी कर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। कहा कि बच्चों के खेलकूद पर ध्यान देते हुए गांव/ब्लॉक/तहसील /जिला स्तर पर खेल आयोजित कर बच्चों को खेलों के प्रति प्रेरित करें। वहीं उनके द्वारा कृषि अधिकारी से जंगली जानवरांे से खेती के बचाव हेतु तारबाड़/घेरबाड़ आदि की जानकारी ली गई, जिस पर संबंधित अधिकारी ने बताया कि तारबाड़/घेरबाड़ के लिए जिला योजना में स्कीम है, किन्तु बजट सीमित होता है। कहा कि आज छोटे किसानों को स्थानीय स्तर पर बाजार न मिलने के कारण उनके द्वारा खेती का काम कम किया जा रहा है। कहा कि कृषि में वाइल्ड लाइफ एवं स्कैल्ड फार्मिंग महत्वपूर्ण होता है, इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए। उनके द्वारा स्वास्थ्य अधिकारी से जनपद में ट्यूबरक्लोसिस के रोगियों, जनपद में पीपी मोड में संचालित अस्पतालों, कोविड वैक्सीनेशन आदि की भी जानकारी ली गई। वहीं दुग्ध अधिकारी ने बताया कि जनपद में आंचल का दूध मार्केट में दिया जा रहा है तथा छः ब्लॉक में काम चल रहा है। वहीं समाज कल्णाण अधिकारी से विधवा, वृद्धा, विकलांग लाभार्थियों को दी जा रही पेंशन की जानकारी ली गई।
बैठक में डीएफओ गढ़वाल मुकेश कुमार, मुख्य कृषि अधिकारी डी.एस. राणा, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक के.एस. रावत, सीओ सदर प्रेमलाल टम्टा, एसीएमओ डॉ. जीएस तालियान, जिला पूर्ति अधिकारी के.एस. कोहली, अधिशासी अभियन्ता नि.ख. लोनिवि प्रत्युष कुमार, बाल विकास अधिकारी जितेंद्र कुमार सहित संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।