अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित पुलिस उप निरीक्षक व प्लाटून कमांडर पदोन्नति परीक्षा निर्विघ्न संपन्न।पढिए Janswar.Com में.

द्वारा-अरुणाभ रतूड़ी

उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव श्री संन्तोष बडोनी के पत्र संख्या 1665 दिनांक 21 फरवरी 2021 के अनुसार आयोग द्वारा आज आयोजित पुलिसउपनिरीक्षक व मुख्य आरक्षी पद के लिए पदोन्नति हेतु दो पालियों में दो अलग -अलग लिखत प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन किया गया।प्रथम पाली 10बजे प्रात: से 12 बजे मध्याह्न तक उप निरीक्षक (नागरिकपुलिस / अभिसूचना) तथा प्लाटून कमांडरों के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन किया गया। इस परीक्षा के लिए कुल 10918 अभयर्थियों के प्रवेशपत्र जारी किए गये।इनमें से कुल 10436 अभ्यर्थियों ने परीक्षा में भाग लिया। परीक्षा में कुल उपस्थिति 95.59%रही।

शाम की पाली में 2 बजे से 4 बजे के मध्य मुख्य आरक्षी नागरिक पुलिस,पीएसी आदि पदों के लिए संयुक्त लिखित परीक्षा आयोजित की गयी। इस परीक्षा के लिए
बजे तक मुख्य आरक्षी नागरिक पुलिस,पीएसी आदि पदों के लिए संयुक्त लिखित परीक्षा आयोजित की गयी। इस परीक्षा के लिए 10295 अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र जारी किए गये परन्तु परीक्षा में केवल 9936 अभ्यर्थी सम्मिलित हुए। परीक्षा की कुल उपस्थिति 94.40% रही है।
दोनों परीक्षाएं आठ शहरों हरिद्वार, टिहरी, श्रीनगर, रुद्रपुर,देहरादून ,हल्द्वानी,अल्मोड़ा,पिथौरागढ़ के कुल 38 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित की गयी।

परीक्षा केन्द्रों को, कोविड 19 प्रोटोकॉल का अनुपालन करते हुए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र को सेनेटाईज किया गया।प्रत्येक अभ्यर्थी की थर्मल स्कैनिंग की गयी। परीक्षा में सहयोग करने वाले कार्मिकों को मास्क,ग्लब्स तथा हैंड सेनिटाइजर उपलब्ध कराया गया।अभ्यर्थियों को भी हैंड सेनिटाईजर उपलब्ध कराया गया।साथ ही प्रत्येक अभ्यर्थी की HHMO से स्केनिंग की गयी।अभ्यर्थियों की बायोमैट्रिक उपस्थिति ली गयी। प्रत्येक कक्ष में सीसी टीवी कैमरा स्थापित किए गये। समस्त परीक्षा प्रक्रिया व अभ्यर्थियों की वीडियोग्राफी की गयी।आयोग द्वारा पदोन्नति की इस प्रक्रिया में केवल लिखित परीक्षा का आयोजन कर उसका परिणाम उक्त विभाग को उपलब्ध कराएगा। अन्य प्रक्रिया विभाग द्वारा की जाएंगी।

उन्होंने परीक्षा निर्विघ्न व सफलता पूर्वक संपन्न कराने के लिए सभी कर्मचारियों /अधिकारियों को धन्यवाद दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.